Important Things for Indian Army Preparation

अगर आप एक अच्छे runner बनना चाहते हैं या फिर आप indian army की 1600 मीटर दौड़ की तैयारी में लगे हैं और आपने अभी ही कुछ दिनों से रनिंग की शुरुआत की है तो आपके लिए ही यह लेख लिखा गया है जिसमें हम आपके साथ हमारी टीम के कुछ अनुभव शेयर करेंगे और साथ ही बताएंगे कि आप शुरुआत में हैं फिर भी जल्द ही एक अच्छे रनर कैसे बन सकते हैं।

स्वागत है आपका SatikInformation.com में, आज आपके सामने मैं एक ऐसा लेख प्रस्तुत करने जा रहा हूँ जिसमें important things for 1600 Meter Running (1600 meter running ke liye important baten in hindi), के साथ – साथ how to prepare for indian army physical (indian army physical ki taiyari kaise kren), पर भी चर्चा करूंगा। तो आपको कुछ बाते जान लेनी चाहिए जिससे रनिंग के दौरान होने वाली समस्याएं बिल्कुल ना के बराबर हों।

अब अगर आप एक शुरुआती धावक हैं तो जाहिर सी बात है कि आपको रनिंग लगाने की बहुत सी महत्वपूर्ण बातें नहीं पता होंगी। ऐसे में आप अगर रनिंग लगते भी हैं तो आपकी रनिंग टाइमिंग ठीक नहीं आ पा रही होगी। जिससे रनिंग के प्रति आपका रुझान कम सा होने लग जाता है या यूं कहें कि आप खुद में demotivate भी महसूस करते हैं और इतना ही नहीं बल्कि कुछ दिन बाद तो आप रनिंग ही बंद कर देते हैं। तो आज इस पोस्ट के माध्यम से हमने कुछ ऐसी बातें बताई हैं जिन्हे फॉलो करके आप भी एक अछे धावक कि श्रेणी में शामिल हो जाएंगे।

Important Things for Indian Army Preparation - Satik Information

Indian Army Running Tips in Hindi

अगर आप एक शुरुआती धावक हैं तो आपके मन में एक सवाल जरूर उथल-पुथल करता होगा, कि एक धावक के लिए लंबी दौड़ ज्यादा जरूरी है या फिर ज्यादा समय तक दौड़ना ज्यादा जरूरी है। किस तरीके को अपनाएं कि दौड़ने कि दौड़ने की टाइमिंग ठीक आ जाए, तो मैं आपको बता दूँ कि पहले तो आपको अपनी डाइट को सुधारना होगा जिससे आपके शरीर को भरपूर मात्रा में एनर्जी मिलती रहे, तथा साथ ही शारीरिक शक्ति को बरकरार रखने में यह दो चीजें महत्वपूर्ण रोल निभाती हैं:

  1. स्टैमिना 
  2. बॉडी स्ट्रैंथ

अब इन दोनों चीजों को  विकसित करने के लिए हमारी बॉडी को एक अच्छा खासा टाइम चाहिए होता है। जब तक बॉडी अपने सही आकार मैं नहीं ढल जाती तब तक आप खुद को रनिंग के दौरान जल्दी थका सा महसूस करेंगे तथा आपकी सांस भी जल्दी ही फूल जाएगी और भी बहुत सी ऐसी ही समस्याएं कुछ दिन तक रहेंगी। जिससे आप बहुत जल्दी ही ज्यादा दूर तक नहीं दौड़ पाएंगे। तो इसके लिए आप भले ही कितना भी धीरे दौड़े लेकिन एक नियमित स्पीड में दौड़ते हुए एक लंबी दूरी को तय करना चाहिए, शुरुआत में आपको समय कि तरफ ज्यादा गौर नहीं करना चाहिए, चाहें जितना समय लगे पर लंबी दौड़ शुरुआत में जरूरी है। धीरे-धीरे दौड़ का समय अपने आप ही ठीक होता जाएगा।

जब एक बार आपके शरीर कि आदत हो जाएगी तथा आपके मसल्स बनने लगेंगे जैसे कि आपने अक्सर धावकों को देखा ही होगा उनके पैरों का मसल्स थोड़ा अलग होता है साथ ही उनकी बॉडी के ऊपरी भाग के भी मसल्स मजबूत होते हैं। यह इसलिए नहीं कि वे एक धावक हैं बल्कि वे मेहनत करते हैं अपने रनिंग में, बिना समय की परवाह किए। एक बार जब आपका शरीर मजबूत हो जाता है तो फिर आप चाहें कितनी ही दूर तथा कितने ही समय तक क्यूँ न दौड़ें आप जल्दी खुद को नहीं थका सकते। तो सबसे पहले आपको इस बात को बिल्कुल ही दिमाग से निकालना होगा कि मैं बहुत देर में अपनी रनिंग पूरी कर पाता हूँ। 

Also Read: Diet Plan for 1600 Meter Running

तैयारी में इन बातों का रखें विशेष ध्यान

मैंने यहाँ नीचे कुछ पॉइंट्स आपके साथ शेयर किए हैं जिन्हे फॉलो करके आप खुद ही घर बैठे रनिंग में सुधार तथा बॉडी स्टैमिना को बढ़ा सकते हैं।

  • अपनी तैयारी में नियमित रूप से दौड़ने व अन्य व्यायाम के लिए जाएं तथा खुद का एक प्रापर रूटीन फॉलो करें।
  • यदि संभव है तो किसी ग्राउन्ड पर ही दौड़ने जाएं, रोड पर दौड़ न लगाएं तथा घुमावदार दौड़ें क्यूंकी यह सीधे दौड़ने से कई गुना ज्यादा फायदेमंद है।
  • जब आप थके हुए हैं तब भी मुह के बजाए नाक से ही सांस लेने कि आदत डालें। नाक के माध्यम से सांस लेने से आपकी सहनशक्ति का निर्माण करने में मदद मिलेगी।
  • व्यायाम करते समय बहुत अधिक पानी न पियें, हर निश्चित समायान्तराल के बाद अगर आवश्यकता है तो एक घूंट लें। परंतु आप दिन में ज्यादा से ज्यादा तरल पदार्थ एवं पानी का सेवन करें।
  • अपने खाने कि आदतों को भी नियंत्रित करने कि कोशिश करें, भारी तथा तैलीय भोजन या पदार्थ आपके लिए परेशानी पैदा कर सकता है, इसलिए हल्का एवं स्वस्थ भोजन खाने की कोशिश करें।
  • दौड़ करने के कुछ संयान्तराल के बाद, अन्य अभ्यास जैसे पुश-अप्स, चिन-अप्स या पुल-अप्स आदि का अभ्यास करना न भूलें।
  • भरपूर नींद लें। शरीर को आराम देना भी बहुत आवश्यक है, क्यूंकी जब हम दौड़ते हैं या व्यायाम करते हैं तो अक्सर हमारे वदन में हल्का स दर्द सा होने लगता है जो कि आराम के बाद ठीक हो जाता है। 
  • अंतिम तथा सबसे महत्वपूर्ण बात कोई भी व्यायाम तथा किसी भी चीज या भोजन का सेवन अपनी शारीरिक क्षमता के अनुसार ही करें।

Conclusion

आप इस Indian Army Running tips को फॉलो करके अपने घर पर ही 1600 मीटर रनिंग की तैयारी आसानी से कर सकते हैं तथा इंडियन आर्मी के फिजिकल टेस्ट में फर्स्ट ग्रुप में excelent रनिंग लगाने का अवसर पा सकते हैं। इस प्लान को आप फॉलो करके जल्दी ही खुद को एक अच्छा रनर बना सकते हैं।

यदि आपको Important tips for 1600 Meter Running लेख से सम्बंधित कोई भी सुझाव चाहिए है तो आप नीचे कमेंट सेक्शन में पूछ सकते हैं। आपके पास 1600 मीटर running से सम्बंधित कोई भी अच्छा टिप्स या सुझाव है तो आप नीचे कमेंट सेक्शन में अन्य रीडर के साथ शेयर कर सकते हैं।

यदि यह पोस्ट अच्छी लगी हो तथा आपके लिए लाभदायक साबित हुई है तो फेसबुक तथा व्हाट्सएप्प ग्रुप में अपने मित्रों के साथ अवश्य शेयर करें।

बन्देमातरम!

जय हिंद जय भारत।

Share This:
FAQ

Ans. रनिंग हमेशा ग्राउंड पर ही करें, तथा ध्यान रखें कि आपका शरीर दौड़ते समय सही पोजिशन में है या नहीं, पंजों के बल दौड़ें, दौड़ते समय नाक से सांस लें व मुंह से छोड़ें।

Ans. दौड़ के लिए अच्छे रनिंग के जूते व कपड़े ले लें, समतल ग्राउंड पर जाएं, शरीर में पानी की कमी न होने दें, दौड़ के पहले और बाद में स्ट्रेचिंग करना न भूलें, खाने में प्रोटीन और कार्बोहाइड्रेट की मात्रा बढ़ा दें।

Ans. भरपूर पानी पियें: दौड़ने जाने से 30 मिनट पहले कम से कम 500 ml पानी जरूर पियें। जब आप दौड़ें, तब भी आपको खुद को हाइड्रेटेड रखने के लिए ज्यादा से ज्यादा पानी पीना होगा, ताकि आप दौड़ते रह सकें। अगर आप डिहाइड्रेटेड हो जाते हैं, तो आप थका हुआ फील करने लग जाएंगे।

दौड़ की शुरुआत हमेशा वार्मअप से करें, शुरुआत में धीमें दौड़े धीरे-धीरे स्पीड को बढ़ायें। एकदम से न रुके व दौड़ के बाद स्ट्रेचिंग करें।

Ans. 1600 मीटर दौड़ की तैयारी के लिए हफ्ते में दो दिन लंबी दौड़ लगाएं, जिससे शरीर की शहनशक्ति बढ़ेगी,इंटरवल ट्रेनिंग दौड़ लगाएं, पहाड़ों पर दौड़े, रेत में दौड़े, वजन लाद कर दौड़े।

Ans. तेज दौड़ने के लिए एक मिनट में ज्यादा से ज्यादा पैर को जमीन पर स्ट्राइक करें व एक स्ट्राइक में ज्यादा दूरी तय करने की कोशिश करें लगातार अभ्यास से स्पीड बडेंगी।

Recommended Articles:

You may also have a look at the following articles to learn more –